The world’s longest #constitution is the Indian’s…

The world’s longest #constitution is the Indian’s constitution. At its commencement, it had 395 articles in 22 parts and 8 schedules. It consists of approximately 145,000 words, making it the second largest active constitution in the world. Currently, it has a preamble, 25 parts with 12 schedules, 5 appendices, 448 articles, and 101 amendments.

The constitution of India was adopted on the 26th of November, in the year 1949. However, it came to effect on the 26th of January, 1950. 26th of January is celebrated as the Republic Day of India.
#ConstitutionDay #WPR http://bit.ly/2XMucCc

, fb.com/123RahulJha Twitter.com/123RahulJha Instagram.com/123RahulJha,

from https://therahuljha.tumblr.com/post/189305478377>

#Success is not built on success. It’s built on #failure….

#Success is not built on success. It’s built on #failure. It’s built on #frustration. Sometimes its built on #catastrophe.

#WorldSuicidePreventionDay
#worldsuicidepreventionday2019
#internationalsuicidepreventionday
#IamRahulJha #123RahulJha #RahulJhaKailash #WPR #Quotes http://bit.ly/2A8MJhg

, fb.com/123RahulJha Twitter.com/123RahulJha Instagram.com/123RahulJha,

from https://therahuljha.tumblr.com/post/187623078417>

आज सड़कों पर लिखे हैं सैकड़ों नारे न देख, पर अँधेरा देख तू आकाश…

आज सड़कों पर लिखे हैं सैकड़ों नारे न देख,
पर अँधेरा देख तू आकाश के तारे न देख।

एक दरिया है यहाँ पर दूर तक फैला हुआ,
आज अपने बाज़ुओं को देख पतवारें न देख।

अब यकीनन ठोस है धरती हकीकत की तरह,
यह हकीकत देख लेकिन खौफ के मारे न देख।

वे सहारे भी नहीं अब जंग लड़नी है तुझे,
कट चुके जो हाथ उन हाथों में तलवारें न देख।

ये धुंधलका है नजर का तू महज मायूस है,
रोजनों को देख दीवारों में दीवारें न देख।

राख कितनी राख है, चारों तरफ बिखरी हुई,
राख में चिनगारियाँ ही देख अंगारे न देख। ✍️#दुष्यंत_कुमार

#Dushyantkumar
#BirthAnniversary
#fb #WPR
#hindipoetry #हिन्दी_साहित्य http://bit.ly/2NJuGpV

, fb.com/123RahulJha Twitter.com/123RahulJha Instagram.com/123RahulJha,

from https://therahuljha.tumblr.com/post/187412044427>

जनकन्दनी माता सीता के नगरी मिथिलाक, विद्धान विद्यापति के…

जनकन्दनी माता सीता के नगरी मिथिलाक, विद्धान विद्यापति के कर्मभूमि, लेखक नागार्जुन उर्फ यात्री की धरती #मिथिलाक
मशहूर हास्य व्यंग्य कलाकार, उद्घोषक एंकर राजीव झा जी के जन्मदिनाक ढेर सारा बधाई
31 अगस्त
City of Janakandani Mata Sita, Karmabhoomi of Vidhan Vidyapati, Land of writer Nagarjuna Urf Yatri #Mithilak.
Happy Birthday to famous comic satirist, announcer anchor Rajiv Jha

#HappyBirthdayAnchorRajeevJha
#WPR
#fb http://bit.ly/2HzSCbi

, fb.com/123RahulJha Twitter.com/123RahulJha Instagram.com/123RahulJha,

from https://therahuljha.tumblr.com/post/187378476902>

आध्यात्मिक कथाएँ -> कृष्ण का पृथ्वी पर आगमन द्वापर युग की…

आध्यात्मिक कथाएँ -> कृष्ण का पृथ्वी पर आगमन द्वापर युग की बात है, एक बार पृथ्वी पर पाप कर्म बहुत बढ़ गए। सभी देवता चिंतित थे। अपनी समस्या लेकर वे भगवान विष्णु के पास गए।

#भगवान #विष्णु ने उनकी बात सुनकर उन्हें आश्वस्त करते हुए कहा, “चिंता न करें, मैं नर-अवतार लेकर पृथ्वी पर आऊंगा और इसे पापों से मुक्ति प्रदान करूंगा। मेरे अवतार लेने से पहले #कश्यप मुनि मथुरा के यदुकुल में जन्म लेकर वसुदेव नाम से प्रसिद्ध होंगे। उनकी दूसरी पत्नी के गर्भ से मेरी सवारी शेषनाग बलराम के रूप में उत्पन्न होंगे और उनकी पहली पत्नी देवकी के गर्भ से मैं ‘#कृष्ण’ के रूप में जन्म लूंगा। #कुरुक्षेत्र के मैदान में मैं पापी क्षत्रियों का संहार कर पृथ्वी को पापों से भारमुक्त करूंगा।” वह समय भी जल्द ही आ गया। मथुरा में ययाति वंश के राजा उग्रसेन का राज था। राजा उग्रसेन के पुत्रों में सबसे बड़ा पुत्र कंस था। देवकी का जन्म उन्हीं के यहां हुआ। इस तरह देवकी का जन्म #कंस की चचेरी बहन के रूप में हुआ। इधर कश्यप ऋषि का जन्म राजा शूरसेन के पुत्र वसुदेव के रूप में हुआ। बाद में देवकी का विवाह वसुदेव के साथ संपन्न हुआ।

कंस देवकी से बहुत स्नेह करता था। पर एक बार आकाश से भविष्यवाणी सुनाई दी, “देवकी का आठवां पुत्र तुम्हारा काल होगा। तुम्हारी मृत्यु उसी के हाथों निश्चित है।” बस उसी दिन से कंस देवकी को मारने के लिए उद्धत हो गया। इस घटना से चारों तरफ हाहाकार मच गया। अनेक योद्धा #वसुदेव का साथ देने के लिए तैयार हो गए। पर वसुदेव युद्ध नहीं चाहते थे। उन्होंने कंस को भरोसा दिलाया कि “देवकी के किसी बच्चे के जन्म लेते ही मैं उसे तुम्हें सौंप दूंगा।” वसुदेव झूठ नहीं बोलते थे। कंस ने उनकी बातों पर भरोसा कर लिया। उनके समझाने पर कंस का गुस्सा तो शांत हो गया पर उसने वसुदेव और देवकी को कारागार में डाल दिया और सख्त पहरा लगवा दिया। जैसे ही #देवकी ने प्रथम पुत्र को जन्म दिया वसुदेव ने उसे कंस के हवाले कर दिया। कंस ने उसे चट्टान पर पटक कर मार डाला। इस तरह उसने देवकी के छह पुत्रों को मार दिया। देवकी के सातवीं बार #गर्भवती होने पर शेषनाग अपने अंश से उसके गर्भ में पधारे। #copied #KrishnaJayanti
#KrishnaJanmashtami
#krishnaLeela
जय श्री कृष्ण 🚩
#WPR #Blog #BLOG #123RahulJha #rahuljha #IamRahulJha #RahulJhaKailash #fb http://bit.ly/2ZifaaL

, fb.com/123RahulJha Twitter.com/123RahulJha Instagram.com/123RahulJha,

from https://therahuljha.tumblr.com/post/187241735172>

कौरव कौन कौन पांडव, टेढ़ा सवाल है| दोनों ओर शकुनि का फैला कूटजाल…

कौरव कौन
कौन पांडव,
टेढ़ा सवाल है|
दोनों ओर शकुनि
का फैला
कूटजाल है|
धर्मराज ने छोड़ी नहीं
जुए की लत है|
हर पंचायत में
पांचाली
अपमानित है|
बिना कृष्ण के
आज
महाभारत होना है,
कोई राजा बने,
रंक को तो रोना है|
Formal Prime Minister of India #AtalBihariVajpayee #DeathAnniversary 🙏

#WPR
https://www.instagram.com/p/B1NTzh5IoKQ/?igshid=7hs7oqyg2pno

from https://therahuljha.tumblr.com/post/187043196632>